Dec 31, 2010

कुरआन सारी मानवता के लिए है






ठाणे में होने वाले अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मेलन के अंतर्गत जमाअते इस्लामी हिंद मुंब्रा-कौसा एवं इस्लामी मराठी पब्लिकेशन ने इस्लामिक पुस्तकों का एक स्टॉल शुक्रवार दिनांक २४ दिसंबर से सोमवार २७ दिसंबर तक संचालित किया !

इसके अंतर्गत कुरआन का मराठी अनुवाद एवं साथ ही साथ विभिन्न विषयों पर एक सो पचासी (१५१) से अधिक पुस्तकों को रखा गया जिनमें हज़रत मुहम्मद साहब की जीवनी, इस्लाम में स्त्री के अधिकार, इस्लाम व आतंकवाद, जिहाद, मासांहार, एकेश्वरवाद आदि प्रमुख थी !

इस स्टॉल पर चारों दिन आगंतुक भारी मात्रा में उपस्थित रहे जिनमें विध्यार्थी, युवा, शिक्षक, लेखक, पुलिस आफिसर तथा सरकारी कार्यकर्ता आदि सम्मिलित थे, जिन्होंने कुरआन के मराठी अनुवाद के साथ साथ अन्य पुस्तकें लेने में रूचि दिखाई ! आगंतुकों ने कुरआन के ग्यारह सौ (११००) से अधिक मराठी अनुवाद पचास रूपये के हदिये पर लिए ! इसके साथ ही साथ कई इस्लामिक पुस्तकों के लिए भारीमात्रा में आर्डर भी बुक कराये गए !

यहाँ आने वाले सभी आगंतुकों के इस्लाम से सम्बंधित प्रश्नों के भी संतोषजनक उत्तर दिए गए एवं पवित्र कुरआन को पढ़ने के आदाब भी बताए गए जैसे की पवित्र कुरआन को पाक साफ़ होकर पढ़े आदि !

यहाँ पर उपस्थित सभी लोगों को यह संदेश भी दिया गया की पवित्र कुरआन केवल मुसलमानों के लिए ही नहीं है बल्कि सारी मानवता के लिए है !

सम्मलेन में आये हुवे लोगों ने पवित्र कुरआन के मराठी अनुवाद को देख कर बहुत खुशी ज़ाहिर की और कहा की वे बहुत समय से इसे तलाश कर रहे थे, आज उनकी तलाश पूरी हुई !

यदि आप भी पवित्र कुरआन का मराठी अनुवाद लेने अथवा इस्लाम के बारे में जानने के इच्छुक हैं तो इस्लामिक सेंटर, अम्रत नगर या जनाब अब्दुर रहमान साहब से 9022783284 पर संपर्क कर सकते हैं !

No comments:

Post a Comment